Home » Uncategorized » politics

Category Archives: politics

Advertisements

कम्युनिस्ट पार्टी आठ सीटों पर लड़ेगी चुनावी लड़ाई

कम्युनिस्ट पार्टी ने भाजपा और कांग्रेस के उत्पीडन से निजात पाने के लिये  दोनों  दलों के विकल्प देने के उदेश्स्य से हिलोपा दल व् मार्क्सवादी  कम्युनिस्ट से गद जोड़ किया और हिमाचल मैं विधान सभा चुनावों मैं 7  सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा  की है   और आठवीं   नालाग्ड की सीट को विचाराधीन रखा गया है

1 नयना देवी से कृष्ण  कुमार
2  कांगड़ा  से अमन गुलेरिया
3 नगरोटा से चरण दास 
4 मंडी  से देश राज 
5 डल्होजी  टी आर भारद्वाज 
6 चंबा सद्र से  रत्न चाँद 
7 कसौली से कर्म दास 
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कामरेड शशि पंडित राज्य सचिव हिमाचल प्रदेश  ने सात उम्मीदवारों के नाम घोषित करने के साथ साथ  अपना चुनावी घोषणा पात्र भी जारी किया है जिसमें  कम्युनिस्ट दल द्वारा  आम आवाम से जुड़े मुद्दों को चुने की कोशिश की है जिसमें  जनता को यह आश्वास्त किया है की  अगर वः सता के भागीदार बनेगें तो वः विधान सभा मैं जनता की आवाज़ उठाएंगे और जनता के हितों का पूरा ध्यान रखेंगे उनका कहना है की अगर वः सता मैं आयेंगे तो  गृहणियों के लिए  सात गेस सिलेंडरों की बजाय 15 सीलेंडर
 की मांग रखेंगे सरकारी ड़ीपुओं  मैं 35 किलो खाद्य सामग्री उपलब्ध करायेंगे और कम से कम दस हजार रूपये प्रतिमाह या 333 रूपये ध्याड़ी करवाएंगे बेरोजगारों को बेरोज़गारी  भत्ता दिलवाएंगें  और बेरोजगारों को 80 प्रतिशत उद्योगों  मैं रोज़गार दिलवाएंगे और इस के साथ हेई सरकारी व् गेर सरकारी क्षेत्रों मैं ठेकेदारी प्रथा को बंद करवाएंगे किसानों को फ़सलों का लाभकारी मूल्य दिलवाएंगे और उनके सारे साल की मेहनत पर पानी फेरने वाले   से किसानों को   निजात दिलवाई जायेगी और साथ  शिक्षा का व्यापारी करन हिमाचल मैं नहीं होने दिया जाएगा

Advertisements

धनि राम शाण्डिल ने सोलन से सम्भाली चुनावी कमान

सोलन मैं चुनावी  माहौल सर्द हवाओं के बीच   टिकेट के आबंटन के बाद अचानक गर्म होता दिखाई दे रहा है विधान सभा  चुनावों मैं दो बड़े दलों कांग्रेस और  बी जे पी   ने अपने अपने उम्मीदवरों  के नाम घोषित कर दिया है जिसमें बी जे पी से जिला परिषद अध्यक्ष कुमारी शिला व् उनकी टक्कर मैं कांग्रेस ने कर्नल धनी राम शाण्डिल के हाथ चुनावी रन की बागडोर सम्भाली है 

अगर सोलन की बात करने तो सोलन मैं भाजपा प्रत्याशी के नाम की घोसना से जहाँ एक तरफ उन्हें भाजपा की अंदरूनी कलह का सामना करना पद रहा है व्ही कर्नल धनी राम शाण्डिल  के राह मैं इस तरह की कोई बाधा दिखाई नहीं  दे रही है 
धनि राम शाण्डिल का टिकेट मिलने पर सोलन मैं उनके कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया इस मौके पर धनी राम शाण्डिल ने कहा की सोलन मैं जो विकास किया जाना था उसे भाजपा करवाने मैं असफल रही है और यही कारण है की सोलन की जनता आज बदलाव चाहती है यहाँ तक किसानों को जो सुख सुविधाएँ सरकार से मिलनी चाहिए थी उस से भी वः अछूते रहे हैं उन्हें टमाटर के समर्थन मूल्य के वायदे तो मिले परन्तु उन्हें समर्थन मूल्य नहीं मिल पाया उन्हें फ़ूड प्रोसेसिंग उनित के सपने तो दिखाए लेकिन चुनाव मैं जीतने के बाद वह धूमिल हो गए  युवाओं को रोज़गार देने के बड़े बड़े वायदे किये गए लेकिन युवाओं की हालत की तरफ पलट क्र देखा नहीं गया इस लिए अब हर जन बदलाव चाहता है 



प्रदेश में भ्रष्टाचार का ग्राफ बढ़ा ः कौल सिंह

अर्की ब्लाक कांग्रेस कमेटी ने कौल सिंह ठाकुर का किया स्वागत
स्र अमर उजाला ब्यूरो
अर्की/ दाड़लाघाट (सोलन)। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कौल सिंह ठाकुर ने कहा है कि प्रदेश में भ्रष्टाचार का ग्राफ बढ़ता जा रहा है, जबकि सरकार इस पर अंकु श लगाने में विफल साबित हुई है । दो वर्ष बाद होने वाले प्रदेश विस चुनाव में कांग्रेस की सत्ता में वापसी प्राथमिकता रहेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने यह बात शुक्रवार को प्रदेशाध्यक्ष का पदभार संभालने के बाद पहली बार अर्की क्षेत्र में आयोजित स्वागत समारोह में कही।
श्री ठाकुर ने दाड़लाघाट स्थित सीमेंट कंपनी की माल ढुलाई करने वाले ट्रक आपरेटरों की मांगों को जायज ठहराया। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि वे केंद्र की कांग्रेस नीत सरकार के कार्यक्रमों तथा उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने का प्रयास करें। उन्हाेंने पार्टी में अनुशासन बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं का पार्टी में विशेष महत्व है। इससे पहले संजय अवस्थी की अगुवाई में ब्लाक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कौल सिंह ठाकुर का गलोग में जोरदार स्वागत किया ।
उनके स्वागत के लिए सोलन जिला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ठाकुर अर्की ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष संजय अवस्थी, प्रकाश चंद करड़, राजेंद्र रावत, कंवर बाला राम, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के साथ पूर्व मंत्री रंगीला राम राव तथा कमला प्रार्थी मौजूद थीं। इस मौके पर निर्मला,मीरा भटटी, कांता वर्धन, उमा गर्ग, धर्मपाल कश्यप, जगदीश ठाकुर, अमर ठाकुर, कृष्ण ठाकुर, प्रकाश चौधरी, डा.मस्त राम शर्मा, कैलाश गुप्ता,संतराम ठाकुर, कृष्ण कंवर प्यारे लाल, देवीराम, गुरदासराम, राम दास, मनसाराम, जगदीश, गोविंद ठाकुर, राजेश, कपिल, विनोद, नीम चंद, रतनलाल, श्याम लाल जोगिंद्र आदि शामिल थे।
उधर, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष संजय अवस्थी ने बताया कि दाड़लाघाट शिव मंदिर परिसर में आयोजित स्वागत समारोह के दौरान बडं़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित हुए।

फिर वही करुंगा: परवेज़ मुशर्रफ़

..फिर वही करुंगा: परवेज़ मुशर्रफ़

परवेज़ मुशर्रफ़ (फ़ाइल फ़ोटो)

पाकिस्तान के पूर्व फ़ौजी शासक रिटायर्ड जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ ने कहा है कि अगर लाल मस्जिद और अकबर बुगटी घटनाओं जैसी स्थिति फिर पैदा हुई तो वह फिर से वही कार्रवाइयाँ करने से परहेज़ नहीं करेंगे.

पाकिस्तानियों से अपने एक संबोधन के दौरान मुशर्रफ़ ने कहा कि ‘जो भी देश की अखण्डता के ख़िलाफ़ खड़ा होगा उसे कुचल कर रख दिया जाएगा’.

जनरल मुशर्रफ़ न्यूयॉर्क में पाकिस्तानी नागरिकों के एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे जिसके दौरान उनके ख़िलाफ़ ज़बर्दस्त प्रदर्शन हुआ और जम कर नारेबाज़ी हुई.

शनिवार की शाम न्यूयॉर्क में एक स्थानीय टेलीविज़न साउंड व्यू स्टूडियो की इमारत के बाहर जहां जनरल मुशर्रफ़ पाकिस्तानियों को संबोधित करने वाले थे वहां पाकिस्तानी राजनीतिक गुट समेत अन्य ग्रुपों के कार्यकर्ता पहुंच गए.

वे अपने साथ बैनर लिए हुए थे और उनके पास लाउडस्पीकर भी थे. इनमें पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़ शरीफ़), ख़ैबर सोसाइटी, पाकिस्तान यूएस फ़्रीडम फ़ोरम, पाकिस्तानी ऐडवोकेट्स ऑन ह्यूमन राइट्स और तहरीके मुहासबा पाकिस्तान के कार्यकर्ता शामिल थे.

नारे और बैनर

पाकिस्तान को पहले से ही अस्थिरता का सामना है और पाकिस्तान की मौजूदा सरकार के बारे में लोगों को सब कुछ मालूम है इसलिए वह उस पर टिप्पणी कर के देश की अस्थिरता को बढ़ाना नहीं चाहते

जनरल परवेज़ मुशर्रफ़

वे इस प्रकार के नारे लगा रहे थे– ‘आईन (संविधान) का क़ातिल परवेज़ मुशर्रफ़’, ‘बुगटी और लाल मस्जिद का क़ातिल परवेज़ मुशर्रफ़’, ‘सिंध का क़ातिल’, ‘पंजाब का क़ातिल’, ‘बलूचों का क़ातिल’ और ‘पख़तूनों का क़ातिल परवेज़ मुशर्रफ़’.

उनके बैनर पर लिखा हुआ था– ‘डाक्टर आफ़िया सिद्दीक़ी को गिरफ़तार करवा कर अमरीका के हवाले करने का ज़िम्मेदार मुशर्रफ़’.

उन्होंने अपने बैनर पर ये भी लिख रखा था कि ‘अमरीकी विदेश मंत्रालय परवेज़ मुशर्रफ़ का अमरीकी वीज़ा रद् करे’.

सुरक्षा के सख़्त इंतिज़ाम में पाकिस्तानियों से अपने संबोधन में परवेज़ मुशर्फ़ ने दावा किया कि उनकी पार्टी देश के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना की पार्टी है और वह पाकिस्तान का पुनर्निर्माण करना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘उनके पुनर्निर्मित पाकिस्तान में हर नागरिक और ख़ास तौर से महिलाओं और अल्पसंख्यकों को अधिकार प्राप्त होंगे’.

मुशर्रफ़ ने कहा कि अगर उन्हें पाकिस्तान की जनता ने आन वाले चुनाव में चुन लिया तो पुनर्निर्मित पाकिस्तान में किसी को मुसलमान, हिंदू या ईसाई समझ कर नहीं बरता जाएगा बल्कि ऐसे सारे लोग सबसे पहले पाकिस्तानी होंगे और पाकिस्तान में बराबर के नागरिक होंगे.

उन्होंने एक बार फिर इस बात को दोहराया कि एनआरओ पर हस्ताक्षर करना उनकी ग़लती थी और वह इस पर माफ़ी मांग चुके हैं.

माफ़ी नहीं…

जनरल परवेज़ मुशर्रफ़जनरल परवेज़ मुशर्रफ़ ने हाल ही में अपनी राजनीतिक पार्टी बनाई है.

लेकिन इसके साथ उन्होंने ये भी कहा कि वह लाल मस्जिद और अकबर बुगटी के ख़िलाफ़ कार्रवाइयों पर कोई माफ़ी नहीं मांगेंगे क्योंकि उन्होंने राष्ट्रहित और आतंकवाद के ख़िलाफ़ ये कार्रवाइयाँ की थीं.

उन्होंने कहा कि अगर वह निर्वाचित होकर सत्ता में आए और फिर अगर लाल मस्जिद और अकबर बुगटी जैसे हालात पैदा हुए तो वह फिर से वही कार्रवाईयां करने से पीछे नहीं हटेंगे.

उन्होंने दावा किया कि वह वर्दी पहनने के बावजूद डिक्टेटर नहीं थे चाहे उन्हें पाकिस्तान के अंदर और बाहर तानाशाह समझा गया.

पाकिस्तान के पूर्व फ़ौजी शासक ने जहां नवाज़ शरीफ़ की कड़ी आलोचना की वहीं उन्होंने पाकिस्तान की मौजूदा पीपीपी सरकार और राष्ट्रपति ज़रदारी पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को पहले से ही अस्थिरता का सामना है और पाकिस्तान की मौजूदा सरकार के बारे में लोगों को सब कुछ मालूम है इसलिए वह उस पर टिप्पणी कर के देश की अस्थिरता को बढ़ाना नहीं चाहते

[blackbirdpie id=”13794126295″]

ओबामा से छात्रों के सवाल

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपना 10 दिनों का एशिया दौरा भारत से शुरू किया क्योंकि वह चरमपंथ को लेकर एक संदेश दुनिया को देना चाहते थे, जैसा कि उन्होंने ख़ुद कहा.

उन्होंने मुंबई हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि भी दी जिसके बाद उनका एक भाषण भी हुआ. लेकिन चरमपंथ के संदर्भ में उन्होंने पाकिस्तान का नाम नहीं लिया जिससे मीडिया में अनेक सवाल उठे.

लेकिन ओबामा जब रविवार को एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज पहुँचे तो मैनेजमेंट की 19 वर्षीय छात्रा अफ़शीन ईरानी ने उनसे वही सवाल पूछ लिया जो बहुत से भारतीय लोगों के मन में कौंध रहा था. सवाल था अमरीका पाकिस्तान को एक आतंकवादी देश क्यों नहीं घोषित करता?

इस एक सवाल का जवाब देते हुए ओबामा ने अपनी इस यात्रा के दौरान पहली बार पाकिस्तान का नाम लिया, साथ ही उन्होंने कई अन्य महत्वपूर्ण बातें भी कहीं.

लेकिन इस सवाल के बाद जैसे अफ़शीन ईरानी एक स्टार बन गई हैं.

अफ़शीन का कहना है कि वो ओबामा के जवाब से संतुष्ट नहीं हैं लेकिन उन्हें पहले से ही लग रहा था कि ओबामा कूटनीतिक जवाब ही देंगे.

ओबामा का जवाब अच्छा था. एक व्यक्ति के तौर पर मुझे वो बहुत अच्छे लगे. मेरे परिवार वालों ने मुझसे कहा कि उन्हें गर्व है कि मैंने ये सवाल ओबामा से पूछा.

अनम अंसारी

अफ़शीन कहती हैं, “ओबामा ने अपनी यात्रा में पाकिस्तान का कोई ज़िक्र नहीं किया था. मुझे जानने की उत्सुकता थी कि वो पाकिस्तान के बारे में क्या सोचते हैं.”

अफ़शीन कहती हैं कि इसमें कोई शक नहीं कि ओबामा बहुत अच्छे वक्ता हैं. उनका कहना है कि वो अपने आपको बेहद ख़ुशनसीब समझती हैं कि उन्हें ओबामा से सवाल पूछने का मौका मिला.

 

प्रभावशाली व्यक्तित्व

अफ़शीन कहती हैं, “मेरे माता-पिता का कहना है कि उन्हें मुझ पर गर्व है. मेरे पास इतने फ़ोन और संदेश आ रहे हैं कि मैं उनका जवाब भी नहीं दे पा रही हूँ.

उनका कहना है कि उन्होंने बराक ओबामा के बारे में काफ़ी शोध किया था.

“मैंने पहले भिन्न सवाल पूछने के बारे में सोचा था कि एक तरफ़ जब रतन टाटा जैसे भारतीय लोग अमरीकी विश्वविद्यालयों को धन मुहैया करवा रहे हैं तो अमरीका इस बदले में भारत के लिए क्या कर रहा है. लेकिन अपने एक दोस्त से बातचीत के दौरान मैने पाकिस्तान के बारे में सवाल करने का फ़ैसला किया.”

हालाँकि अफ़शीन कहती हैं कि सवाल पूछने से पहले वो थोड़ा अनिश्चित थीं और झिझक रही थीं क्योंकि ‘सवाल थोड़ा विवादास्पद था.’

अफ़शीन अपने कॉलेज की अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम समिति की डॉयरेक्टर हैं. साथ ही वो कॉलेज की ‘स्टुडेंट्स इन फ्री इंटरप्राइज़’ संस्था की भी प्रमुख हैं. ये संस्था गरीब और पिछड़े लोगों को अपने पैरों पर खड़े होने में मदद करती है.

उनका कहना था कि मौका मिले तो वो पाकिस्तान ज़रूर जाना चाहेंगी. उनकी माँ एक वकील हैं, जबकि उनके पिता एक बिल्डर हैं.

अफ़शीन ईरानीअफ़शीन ईरानी मौक़ा मिलने पर पाकिस्तान की यात्रा करना चाहती हैं

उधर 20-साल की अनम अंसारी ने जेहाद के बारे में राष्ट्रपति ओबामा का मत जानना चाहा और उनका कहना है कि वो ओबामा के जवाब से संतुष्ट हैं.

सेंट ज़ेवियर्स की बीएससी तीसरे साल की छात्रा अनम कहती हैं कि सवाल पूछने के पीछे कोई कारण नहीं था और उन्होंने वहीं बैठे-बैठे सवाल सोचा और पूछ लिया.

अनम कहती हैं, “ओबामा का जवाब अच्छा था. एक व्यक्ति के तौर पर मुझे वो बहुत अच्छे लगे. मेरे परिवार वालों ने मुझसे कहा कि उन्हें गर्व है कि मैंने ये सवाल ओबामा से पूछा”.

कालेज के कई छात्र बराक ओबामा से बेहद प्रभावित नज़र आए. सभी छात्रों ने अपने सवालों के लिए कई दिनों तक मेहनत की थी और कार्यक्रम में पहुँचने के लिए कई मुश्किल चरणों से गुज़रे थे.

मुंबई के अलग-अलग कालेजों से चुने गए क़रीब साढ़े तीन सौ छात्रों में से छह या सात छात्रों को ही अमरीकी राष्ट्रपति से सवाल पूछने का मौका मिल पाया.

परवाणू से कंडाघाट तक हुआ कौल सिंह का स्वागत

परवाणू/कंडाघाट (सोलन)। प्रदेश अध्यक्ष कौल सिंह ठाकुर का दोबारा अध्यक्ष बनकर वीरवार को पहली बार सोलन पहुंचने पर हजारों कांग्रेसियों ने परवाणू से लेकर कंडाघाट तक कई जगहों पर जोरदार स्वागत किया।
परवाणू नगर परिषद के अध्यक्ष चुन्नी लाल चौहान की अगुवाई में परवाणू में कांग्रेसियों ने कौल सिंह का जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर इंटक के प्रदेश अध्यक्ष हरदीप सिंह बावा, ब्लाक कांग्रेस कसौली के अध्यक्ष रोशन ठाकुर व राजेश शर्मा आदि ने स्वागत किया, जबकि मंच का संचालक शिव दत्त ठाकुर ने किया। सोलन के कांग्रेस भवन में कौल सिंह का स्वागत करने वालों में पूर्व विधायक मेजर कृष्णा मोहिनी, शिव कुमार, जिला अध्यक्ष राहुल ठाकुर, वरिष्ठ कांग्रेसी सुरेंद्र सेठी, अरविंद गुप्ता, अजय सिंह चौहान, डा. कैलाश परासर, मोहन मेहता, सरदार सिंह ठाकुर, अमलेंदु त्रिपाठी, पार्षद रेणु सेठी, पूनम ग्रोवर, शहरी कांग्रेस अध्यक्ष सुरेंद्र कौर विरदी, मीना भारद्वाज, युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मनीष ठाकुर, मोहित शर्मा, साजिद अली, धर्मपुर में नरेश गुप्ता, रोशन लाल एवं विनोद सुल्तानपुरी, प्रताप सिंह ठाकुर, नमिता रोशन लाल, अशोक सूरी, जगमोहन मल्होत्रा व मंजुल अग्रवाल सहित कई लोगों ने स्वागत किया। चंबाघाट में युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष शमेशर सिंह और प्रदेश महासचिव मनीष ठाकुर (नौणी) की अध्यक्षता में दर्जनों युवा कांग्रेसियों ने कौल सिंह जिंदाबाद के नारे लगाए। इस मौके पर भास्कर चौधरी आदि मौजूद थे। मौके पर नालागढ़ युकां के सचिव पंकज कुमार के बुधवार रात को बाइक दुर्घटना में हुई मौत पर कौल सिंह ने शोक व्यक्त किया।
इससे पूर्व ब्लाक कांग्रेस कमेटी अर्की के अध्यक्ष संजय अवस्थी की अगुवाई में अर्की कांग्रेसियों ने कौल सिंह का स्वागत किया। इस मौके पर अर्की से पीसीसी सदस्य प्रकाश करड़ भी मौजूद थे। कंडाघाट में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हिमेंद्र ठाकुर और ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष रमेश ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित धाम में कौल सिंह ने धाम का आनंद लिया।

सभी को एक मंच पर लाऊंगा: कौल

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि पार्टी आलाकमान ने उन पर विश्वास जताया है, लेकिन यह चुनौतीपूर्ण कार्य है। केंद्रीय मंत्री वीरभद्र सिंह,आनंद शर्मा और विद्या स्टोक्स जैसे बड़े नेताओं ने उन्हें पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया है। पहली प्राथमिकता सभी पार्टीजनों को एक मंच पर लाने की रहेगी। दूसरी बार प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद सोलन पहुंचे ठाकुर का परवाणू से कंडाघाट तक जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया।

इस दौरान बड़ोग में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने स्थानीय निकायों के चुनाव पार्टी सिंबल पर होने की वकालत की। ठाकुर ने कहा कि इसके लिए सरकार पंचायती राज एक्ट में संशोधन करे। चुनावी रणनीति बनाने के लिए जल्द ही शिमला में एक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इसमें विधायकों से लेकर सभी जिला, ब्लॉक स्तर के पदाधिकारी व अग्रणी संगठनों के अयध्क्ष भाग लेंगे। इसके बाद सभी जिलों का दौरा होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। केंद्र की योजनाओं का श्रेय प्रदेश सरकार लेने का प्रयास कर रही है। प्रदेश सरकार केंद्र की बैसाखियों पर चल रही है। इस मौके पर जिला अध्यक्ष राहुल ठाकुर, पूर्व जिला अध्यक्ष शिव कुमार, मेजर कृष्णा मोहिनी, प्रकाश करड़, संजय अवस्थी, सुरेंद्र सेठी, अरविंद गुप्ता, अजय चौहान, राम कुमार, हरदीप बाबा भी मौजूद रहे।

भव्य स्वागत: कौल सिंह ठाकुर के सोलन पहुंचने पर परवाणू, धर्मपुर, कुमारहट्टी, बड़ोग, कांग्रेस कार्यालय सोलन, चंबाघाट और कंडाघाट में स्वागत किया गया। परवाणू में राहुल सिंह ठाकुर के नेतृत्व में स्वागत किया गया। सोलन बाइपास पर कांग्रेस कार्यालय में बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने स्वागत किया। युकां मनीष ठाकुर के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भी स्वागत किया। इसके बाद युकां जिला अध्यक्ष शमशेर सिंह के नेतृत्व में चंबाघाट में स्वागत कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर भास्कर चौधरी, अमित डोगरा, संजीव, लोकेश ठाकुर, भीम दत जोशी,बलविंद्र, नीरज ठाकुर, रंजीत वर्मा भी मौजूद रहेंगे। कंडाघाट में हमिंद्र ठाकुर के नेतृत्व में स्वागत कार्यक्रम हुआ। परवाणू में भी कौल सिंह का कार्यकताओं ने जोरदार स्वागत किया। स्वागत की खास बात यह रही कि इसमें वीरभद्र समर्थकों ने भी जोर-शोर से भाग लिया। ठाकुर कौल सिंह के स्वागत समारोह में प्रदेश के अध्यक्ष बावा हरदीप सिंह, पूर्व विधायक लज्जाराम, शिव कुमार, विनोद सुल्तानपुरी समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे। स्वागत समारोह के बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने एकजुट होकर विधानसभा चुनावों की तैयारी करने का आह्वान किया।

%d bloggers like this: