दिल्ली में जौहर दिखाएगी कसौली की भव्या

कसौली (सोलन)। सेंट मैरी स्कूल कसौली की छठी कक्षा की भव्या उन्याल दिल्ली में प्रदेश का नाम रोशन करेगी। मैक्स न्यूयार्क लाइफ की आयोजित की जा रही आई जीनियस प्रतियोगिता का ग्रेेंड फिनाले दिल्ली में सोमवार १५ नवंबर को होगा। इसमें भारत के जीनियस बच्चों में से एक इंडिया जीनियस चुना जाएगा। कसौली की भव्या उन्याल इस प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेगी।
११ वर्षीय भव्या उन्याल सेंट मैरी स्कूल कसौली में छठी कक्षा में पढ़ रही है। भव्या के माता-पिता दोनों ही सरकारी मिडल स्कूलों में मुख्याध्यापक हैं। भव्या उन्याल के पिता निशी कांत शर्मा ने बताया कि मैक्स न्यूयार्क लाइफ द्वारा की जा रही इंडिया जीनियस बच्चे की खोज में भव्या हिमाचल प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रही है। उन्होंने बताया कि भव्या उन्याल ने पहले दो राउंड को इंटरनेट के माध्यम से पार किया। तीसरा राउंड चंडीगढ़ में हुआ जहां पर भव्या के साथ विशेषज्ञों ने दिल्ली से वीडियो कांफ्रेसिंग में सवाल किए। भव्या ने तीसरा राउंड भी बड़ी निडरता से पार करते हुए आज के ग्रेंड फिनाले में अपनी जगह बनाकर प्रदेश को गौरव दिलाया है।
रविवार को भव्या अपने पिता के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गए। भव्या की माता भारती ने बताया कि वह शुरू से ही पढ़ाई में आगे रहती है। उसके हर कक्षा में ९० प्रतिशत से ज्यादा नंबर आते हैं। उन्होंने इसका श्रेय भव्या की लगन व मेहनत को दिया और अपनी शुभकामनाएं और आशीर्वाद दिया है।

Advertisements

काम तो दिया नहीं, सामान खरीद लिया

शिमला . प्रदेश सरकार ने मनरेगा कार्यो में अनियमितताएं बरतने वाले पंचायत प्रधानों पर कार्रवाई के निर्देश जारी कर दिए हैं। सरकार ने कुछ पंचायतों का हवाला देते हुए कहा है कि प्रधानों ने 30-40 कार्यो के लिए सामग्री तो खरीद ली है लेकिन एक भी व्यक्तिको रोजगार नहीं दिया गया है। इससे लेबर और सामग्री के अनुपात नियम की अवहेलना हुई है। इससे फंडों के रुकने की भी स्थिति पैदा हो गई है।

प्रदेश सरकार ने एमआईएस (मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम) में अपलोड की गई चौंकाने वाली जानकारी मिलने के बाद यह कदम उठाया है। मनरेगा एमआईएस में प्रदेश की विभिन्न पंचायतों से डाली गई जानकारी में पाया गया है कि पंचायत प्रधानों ने सामग्री तो खूब खरीदी, लेकिन लोगों को रोजगार नहीं दिया।

अब मनरेगा के अंतर्गत किए जाने वाले सभी कार्यो में किसी भी सूरत में लेबर और सामान के अनुपात को 60 और 40 बनाए रखना होगा। ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिला उपायुक्तों, उपपरियोजना अधिकारी तथा खंड विकास अधिकारियों को पत्र लिखकर इस बारे में सूचित कर दिया है।

मनरेगा के काम में केंद्र सरकार लेबर पर 60 फीसदी और सामग्री पर 40 फीसदी का भुगतान करती है। यह अनुपात हर हाल में बना रहना चाहिए। मनरेगा एमआईएस में अपलोड जानकारी में अधिकतर पंचायतों में सामान की खरीद तो हो रही है, लेकिन उसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है।

आरोप तो भी है कि कुछ पंचायतों में प्रधान मनरेगा के पीछे स्थानीय ग्रामवासियों को रोजगार देने की मूल भावना को दरकिनार कर अपने कमीशन के चक्कर में सामान खरीद रहे हैं। हालांकि आला अधिकारियों का यह भी कहना है कि एमआईएस में दिक्कत होने के कारण ऐसा भी हो सकता है कि लेबर खर्च का ब्योरा अभी एमआईएस में नहीं डाला जा सका हो।

सरकार पर पड़ रहा बोझ

पंचायत प्रधानों ने सीमेंट, रेत, बजरी और अन्य निर्माण सामग्री काफी मात्रा में खरीद ली है। लेबर और सामग्री का अनुपात बढ़ने पर प्रदेश सरकार को खर्च का भार अधिक सहना पड़ता है। 110 रुपए दिहाड़ी को 60 फीसदी मानने पर लेबर और सामग्री दोनों की कुल लागत दूसरे राज्यों में 176 रुपए तक पहुंचती है जबकि प्रदेश में यह 315 रुपए है। ऐसे में मनरेगा में काम कराने के लिए सरकार पर करोड़ों का अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है।

हिमाचल की सोनिया को रजत, विजय को कांस्य पदक

बैजनाथ/मैहरे .शिमला . चीन के ग्वांगजाऊ में चल रहे 16वें एशियन गेम्स में बैजनाथ (कांगड़ा) के सुनपुर की सोनिया राय ने 10 मीटर एयर पिस्टल टीम इवेंट में सिल्वर मेडल पर निशाना लगाया है। वहीं कॉमनवेल्थ में देश को तीन गोल्ड दिलाने वाले हरसौर (हमीरपुर) के विजय कुमार ने 10 मीटर पिस्टल फायर के सिंगल इवेंट में कांस्य पदक देश की झोली में डाला है।

सोनिया ने भास्कर से अपनी जीत की खुशी फोन पर साझा की। सोनिया ने एशियन गेम्स में 10 मीटर एयर पिस्टल में निशाना साधते हुए 379 अंक हासिल किए। दोहा एशियाड में भी सोनिया देश को पदक दिला चुकी हैं। राष्ट्रीय निशानेबाजी प्रतियोगिता में भी सानिया गोल्ड, सिल्वर मेडल जीत चुकी हैं। इसके बाद एशियन गेम्स में पदक जीतने वाली सोनिया पहली महिला खिलाड़ी बनी।

इससे पहले सोनिया ने कॉमनवेल्थ गेम्स में चौथा स्थान, चेकोस्लावाकिया में आयोजित शूटिंग जूनियर वर्ल्ड कप में सिल्वर मेडल जीता था। ब्राजील में आयोजित शूटिंग वर्ल्ड कप में सोनिया ने कांस्य पदक जीता था। सोनिया के पिता ने बताया कि निशानेबाज जसपाल राणा के पिता नारायण सिंह राणा से सोनिया ने राइफल और पिस्टल शूटिंग का प्रशिक्षण लिया था।

वहीं, हरसौर गांव के 16 डोगरा के सूबेदार विजय शर्मा ने भी 10 मीटर पिस्टल फायर के सिंगल इवेंट में देश को सम्मान दिलाया है। विजय ने सर्वाधिक 101.4 अंक जुटाते हुए कुल 680.4 अंक हासिल किए।

नन्हे-मुन्नों ने चाचा नेहरू को याद किया

गुरुकुल इंटरनेशनल स्मार्ट स्कूल सोलन में शनिवार को बाल दिवस की पूर्व संध्या पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर चाचा नेहरू को याद किया।

धर्मपुर. डीएवी स्कूल धर्मपुर में शनिवार को बाल दिवस की पूर्व संध्या पर बच्चों ने चाचा नेहरू को याद किया।

इस मौके पर फैंसी ड्रेस व क्रेजी गेम प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में नर्सरी के वेदांश ने प्रथम, आदित्य व अनन्या ने द्वितीय और युगल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। केजी कक्षा की वंदिता ने पहला, माही, शाना व ध्रुव ने दूसरा और आर्यन ने तीसरा स्थान हासिल किया।

परवाणू. इनरव्हील क्लब परवाणू ने बाल दिवस के उपलक्ष्य में आशादीप विद्या निकेतन विद्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान फैंसी ड्रेस, ड्राइंग व खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया गया।

नालागढ़. बाल दिवस के उपलक्ष्य में उपमंडल के विभिन्न स्कूलों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। अल्पाईन स्कूल नालागढ़ की प्रिसिंपल ने चाचा नेहरू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनके योगदान को हम कभी नहीं भूला सकते।

छोटी उम्र में ही विश्व में कमाया नाम

धर्मशाला . शिमला . कांगड़ा जिले के नूरपुर क्षेत्र के रहने वाले अकृत जसवाल को विश्व की दस विलक्षण प्रतिभाओं में शामिल किया गया है। अकृत को बिना चिकित्सकीय अध्ययन के विश्व के सबसे छोटी आयु के चिकित्सक बनने का गौरव प्राप्त किया है। वह भारत ही नहीं,बल्कि विश्व भर के बच्चों के रोल मॉडल के रूप में ख्याति प्राप्त कर चुके हैं।

इन दिनों वह असाध्य रोग कैंसर का इलाज ढूंढने के लिए अध्ययन में जुटे हुए हैं। पांच वर्ष की आयु में शेक्सपीयर को पढ़ना शुरू कर दिया था। बचपन से विज्ञान के प्रति रुझान रखने वाले अकृत ने छह वर्ष की आयु में स्थानीय अस्पताल में डॉक्टरों के साथ सर्जरी सहित अन्य विषयों पर चर्चा में भाग लेकर सभी को हैरत में डाल दिया था।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड से सीधे तौर पर जमा दो की परीक्षा उत्तीण करने वाले अकृत को पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से भारत के सबसे छोटी आयु में बीएससी करने का गौरव प्राप्त है। वर्तमान में अकृत एप्लाइड कैमिस्ट्री में मास्टर डिग्री की पढ़ाई कर रहे हैं।

इसी दौरान अकृत ने अमेरिका में जाकर विश्व के सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिकों से अपने अनुभव और खोजों के बारे में विचार साझा किए, जिस पर डिस्कवरी चैनल ने विशेष डाक्यूमेंट्री तैयार की है जिसे विश्व भर में प्रसारित किया जा चुका है। अपनी पढ़ाई के दौरान इन्होंने ग्रे अनाटॉनी, सहित सर्जरी, एनेथिसिया, कैंसर और अन्य विषयों पर किताबें लिखकर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया था। अपने पहले ही आई क्यू टेस्ट में अकृत ने 162 अंक हासिल कर विश्व का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था। अकृत की प्रतिभा के कायल स्थानीय लोगों ने बचपन से ही उससे चिकित्सकीय परामर्श लेना शुरू कर दिया था।

अमन के आगे उम्र हुई बौनी

होनहार बिरवान के होत चिकने पात, लेकिन यदि कोई मेहनत के बूते भी कुछ करना चाहे तो उम्र भी मायने नहीं रखती। कुछ ऐसी ही प्रतिभा का प्रदर्शन कर दिखाया है शिमला के अमन गिल ने।
सात साल की उम्र में ही कराटे में कुछ अद्भुत करबत दिखाए और बन गया दुनिया का दूसरा सबसे कम उम्र वाला ब्लैक बेल्टर। यही नहीं, अमन सात साल की उम्र में तीन जिला स्तरीय और तीन ऑल इंडिया स्तर की चैंपियनशिप भी अपने नाम कर चुका है।

अपनी आयु वर्ग में अमन इस समय चैंपियन है और बढ़ती उम्र के साथ कुछ नया करने की चाह भी बढ़ती जा रही है। तीन साल की उम्र जिसमें माता—पिता बच्चे को खिलौनों से खेलता देख खुश होते हैं, अमन ने अपने करतबों से सभी को हैरान किया। दोनों बहनें भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीत पिता हरवंस कुमार का नाम रोशन कर चुकी हैं।

कोच अजय ठाकुर भी अपने शिष्य की इस सफलता से काफी उत्साहित हैं। उधर, शिगोकान गोजरियो कराटे ऐसोसिएशन के सचिव पीएस पंवार का कहना है कि शिमला में प्रतिभा की कमी नहीं है, लेकिन जरूरत है तो सिर्फ उस प्रतिभा को बाहर लाने और निखारने की।

नकदी और जेवरात ले उड़े चोर

सोलन में शुक्रवार देर शाम एक घर में सेंध लगाकर चोर घर में रखी नकदी और जेवरात ले उड़े। पुलिस थाना में दर्ज शिकायत में चिनार कॉटेज पास आईटीआई सोलन निवासी रणदीव वर्मा ने कहा कि शुक्रवार देर शाम वह परिवार सहित डिनर पर एक रेस्तरां में गए थे। वहां से लौटने पर पाया कि उनके घर का ताला टूटा हुआ है। अलमारी से सोने-चांदी के जेवरात, वर्मा व उनकी पच्ी का पासपोर्ट, पैन कार्ड, क्रेडिट कार्ड, एक कैमरा व 30 हजार रुपए की नकदी कोई चुराकर ले गया। पुलिस ने रणदीव वर्मा की शिकायत पर मामला दर्ज कर चोरों की तलाश शुरू कर दी है।

फेसबुक पर अश्लील कमेंट, छात्र निलंबित

शिमला. कांगड़ा . डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा प्रशासन ने एमबीबीएस के तृतीय वर्ष के छात्र आशीष कुमार को सात सीनियर और सहयोगी छात्र छात्राओं पर सोशल नेटवर्किग वेबसाइट फेसबुक पर अश्लील कमेंट और अभद्र भाष का इस्तेमाल करने पर कक्षा से निलंबित कर दिया है।

आशीष अमन काचरू का रूम मेट रह चुका है। आशीष लंबे समय से फेसबुक पर अपने सहपाठियों व सीनियर्स के संबंध में टिप्पणियां करता रहा है। अब मामले की जांच का जिम्मा कॉलेज की सेक्सुअल हरासमेंट कमेटी को सौंपकर चार दिन में रिपोर्ट प्रिंसिपल कार्यालय को सौंपने के आदेश दिए है।

प्रशासन ने छात्र को कक्षा से निलंबित करने के साथ ही कॉलेज या कक्षा की गतिविधि को इंटरनेट पर उजागर करने पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी है। कॉलेज के छात्र संघ चुनाव के दौरान एमबीबीएस के 2008 बैच के छात्र आशीष की कुछ छात्र-छात्राओं के साथ कहासुनी हुई थी, जिसके बाद उसने अपनी भड़ास निकालने के लिए अपनी प्रतिक्रिया फेस बुक पर की थी।

साथियों को बनाया निशाना

कॉलेज के प्रवक्ता डॉ. संजीव चौधरी ने कहा कि एमबीबीएस के तीसरे वर्ष के एक छात्र के विरुद्ध फेसबुक पर कुछ छात्र-छात्राओं के विरुद्ध टिप्पणियां लिखने की शिकायत मिली है, जिसके लिए डॉ. सीता ठाकुर की अध्यक्षता में जांच कमेटी जांच कर रही है। जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर ही अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Top Clicks

  • None

Top Rated

%d bloggers like this: